क्या प्रभारी डीजीपी बन पाएंगे स्थायी ?

नेशन अलर्ट, 97706-56789

रायपुर.

प्रदेश को पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के लिए महज चंद दिन और इंतजार करना है. लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के पहले प्रभारी के स्थान पर स्थायी डीजीपी नियुक्त हो जाएगा. महत्वपूर्ण सवाल इस बात का है कि क्या प्रभारी डीजीपी स्थायी बन पाएंगे?

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद डीजीपी रहे एएन उपाध्याय को हटा दिया गया था. उस समय प्रभारी डीजीपी के रूप में डीएम अवस्थी की नियुक्ति हुई थी. अवस्थी के पास ईओडब्लू-एसीबी सहित नक्सल ऑपरेशन के स्पेशल डीजी का प्रभार था.

आचार संहिता के पहले होगी नियुक्ति

अब इधर लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने का समय आ गया है. चूंकि स्थायी डीजीपी नियुक्त करना बेहद जरूरी है इसकारण दो-चार दिनों के भीतर आदेश निकल सकता है.

गत दिनों ही तीन नामों का पैनल तैयार कर लिया गया है. इसमे दो नाम अवस्थी व संजय पिल्ले के ऐसे हैं जो कि प्रदेश में कार्यरत हैं जबकि तीसरा नाम रवि सिन्हा का ऐसा है जो कि प्रदेश के बाहर प्रतिनियुक्ति पर केंद्र सरकार में नियुक्त हैं.

आफिस नहीं पहुंचे अवस्थी

बहरहाल डीजीपी की नियुक्ति के पहले जोड़ घटाव भी शुरू हो चुका है. संभवत: इसी के चलते मंगलवार को अवस्थी ज्यादातर समय अपने आफिस से दूर रहे.

उनके कार्यालय में उपस्थित न हो पाने के चलते उन अधिकारियों को परेशानी हुई जो कि पदोन्नति बाद वर्दी में स्टार लगाने डीजीपी आफिस में उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *