निगम के भृत्य ने कार्यालय अधीक्षक के खिलाफ खोला मोर्चा

नेशन अलर्ट/9770656789
राजनांंदगांव.

राजनांदगांव नगर निगम के भृत्य ने कार्यालय अधीक्षक के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. पूर्व में की गई शिकायत पर आज दिनांक तक क्या कुछ कार्यवाही की गई के संदर्भ में आयुक्त की चुप्पी रहस्यमयी बनी हुई है.

उल्लेखनीय है कि राजनांदगांव नगर निगम में कांतिलाल कोसरे नामक भृत्य कार्यरत है. उक्त भृत्य ने गत वर्ष 14 अगस्त को कार्यालय अधीक्षक आरवी तिवारी की लिखित शिकायत निगम आयुक्त सहित महापौर, निगम अध्यक्ष, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक से की थी.

क्या था शिकायत में

आरवी तिवारी के संदर्भ में शिकायत में उल्लेखित किया गया था कि वह न्यायालिन प्रकरणों में निगम की छवि धूमिल करने का कृत्य करते आ रहे हैं.

इस संदर्भ में कुछ एक उदाहरण भी दिए गए. एक उदाहरण में तो यह भी उल्लेखित किया गया कि आरवी तिवारी को पूर्व में विभागीय जांच में दोषी पाया गया था.

मामला हाई कोर्ट तक पहुंचा था और वहां से निगम को प्रतिकूल पत्र जारी हुआ था. इसी प्रकरण में तिवारी दोषी पाए गए थे. उन पर 10 हजार 739 रूपए का अर्थदंड लगाया गया था.

आर्थिक क्षति के एवज में उक्त राशि को वर्ष 2006 की दिनांक 22 मार्च को निगम कोष में जमा कराया गया था. उस समय आरवी तिवारी को निर्देशित किया गया था कि भविष्य में इस तरह की पुनरावृत्ति न हो.

इस मामले में नेशन अलर्ट ने आयुक्त चंद्रकांत कौशिक से संपर्क साधने का प्रयास किया गया लेकिन उनके द्वारा मोबाइल पर की गई कॉल रिसिव नहीं किए जाने से बात नहीं हो पाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *