स्थानांतरित होते ही तनुजा सलाम के खिलाफ फूटा लेटर बम

नेशन अलर्ट/9770656789
रायपुर
.

जिला पंचायत राजनांदगांव की मुख्य कार्यपालन अधिकारी रहीं श्रीमति तनुजा सलाम के खिलाफ लेटर बम फूट गया है. उल्लेखनीय बात यह है कि स्थानांतरण होते ही जिला पंचायत राजनांदगांव के अधिकारी कर्मचारी के नाम से यह बम फोड़ा गया है.

अभी हाल ही में श्रीमति सलाम का स्थानांतरण राजनांदगांव से सरगुजा अपर कलेक्टर के पद पर किया गया था. उनके स्थान पर गौरेला-पेंड्रा-मरवाही से जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद पर आईएएस अजीत वसंत राजनांदगांव भेजे गए. स्थानांतरण के अगले ही दिन अजीत ने राजनांदगांव में कार्यभार ग्रहण भी कर लिया था.

इधर स्थानांतरित होने के बाद श्रीमति सलाम नए तरह की विवादों में घिर गई है. उन पर कुल जमा 28 बिंदुओं पर आरोप लगाए गए हैं. महत्वपूर्ण बात यह है कि इनमें किन्हीं सौरभ लुनिया नामक व्यक्ति का नाम बार बार आया है.

क्या कहते हैं सौरभ

भारतीय जनता युवा मोर्चा से जुड़े बताए जाने वाले सौरभ लुनिया से नेशल अलर्ट ने बातचीत की. स्वयं को दल्ली राजहरा का निवासी बताते हुए सौरभ ने कहा कि उन्हें इस तरह के किसी पत्र की जानकारी नहीं है लेकिन कुछ एक फोन आए थे.

फोन पर जो कुछ भी बताया गया वह सब गलत है यह सौरभ कहते हैं. आगे सौरभ कुछ भी कहने से इनकार करते हैं. इसके बाद उन्होंने फोन संपर्क विच्छेद कर दिया.

क्या है आरोप

सौरभ लुनिया पर बगैर किसी बजट के जिला पंचायत राजनांदगांव की समस्त शाखाओं में फनीर्चर, कंप्यूटर, स्टेशनरी सामग्री की आपूर्ति किए जाने का आरोप है. पत्र में लिखा गया है कि यह सारे कार्य श्रीमति तनुजा सलाम के इशारे पर किए गए.

श्रीमति सलाम के पास 3 वाहन उपलब्ध बताए गए हैं जिस पर शासकीय भ्रमण नहीं करने पर भी एक दो दिनों के अंतराल में 40-50 लीटर डीजल डलवाया जाते रहा. लॉकबुक भी संधारित नहीं की गई. डीजल का भुगतान स्टोर शाखा, एनआरएलएम, स्वच्छ भारत मिशन, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना मद से किए जाते रहा.

इसके अलावा अन्य बिंदुओं पर भी लंबी-चौड़ी शिकायत की गई. श्रीमति सलाम से उनका पक्ष जानने नेशन अलर्ट ने संपर्क स्थापित किया था लेकिन उनके द्वारा मोबाइल पर की गई कॉल रिसीव नहीं किए जाने के चलते बात नहीं हो पाई.

0 thoughts on “स्थानांतरित होते ही तनुजा सलाम के खिलाफ फूटा लेटर बम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *