अंतागढ़ टेपकांड : 2 जीबी डेटा की एक पेनड्राईव में हैं दर्जनों रिकॉर्डिंग

नेशन अलर्ट, 97706-56789.
रायपुर.

अंतागढ़ टेपकांड की जांच कर रही एसआईटी उस पेनड्राईव में मौजूद कॉल रिकॉर्डिंग्स का अध्ययन कर रही है जो फिरोज सिद्दीकी ने उन्हें सौंपी है. सूत्र बताते हैं कि पेन ड्राईव में 2 जीबी की दर्जनों रिकॉर्डिंग्स हैं.

विधायक प्रत्याशी मंतूराम पवार की खरीद-फरोख्त से जुड़े अंतागढ़ टेपकांड मामले में रोजाना नए पहलू सामने आ रहे हैं. इस केस से पूर्व मंत्री राजेश मूणत का भी नाम जुड़ गया है. हाल फिलहाल कांग्रेस नेत्री व पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने आरोपियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई है.

कांग्रेस नेत्री सुश्री नायक द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में मंतूराम पवार, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, अमित जोगी, डॉ. पुनीत गुप्ता, पूर्व मंत्री राजेश मूणत के नाम शामिल हैं.

इसके साथ ही एक और पहलू यह भी है कि सूत्रों ने दावा किया है, जैसे-जैसे कॉल रिकार्डिंग्स की जांच आगे बढ़ेगी मामले में कुछ आईएएस-आईपीएस अधिकारियों के नाम भी उजागर होंगे. सूत्र कहते हैं विधायक प्रत्याशी की खरीद-फरोख्त में कई प्रशासनिक अधिकारियों की भी भूमिका रही है.

इसके पहले खबरें आ चुकी है कि मंतूराम पवार ने अपना नामांकन तय समय के बाद वापस लिया था. ये कैसे संभव हो पाया ये भी बड़ा सवाल है. हालांकि कहा जाता है कि प्रभावशाली लोगों ने प्रशासन पर दबाव डाला था.

फौरेंसिक लैब भेजने की तैयारी

अधिकारिक सूत्र बताते हैं कि फिरोज द्वारा सौंपी गई पेन ड्राईव को फौरेंसिक लैब भेजने की तैयारी चल रही है. आजकल में इस संबंध में फैसला भी हो जाएगा. लैब टेस्ट के बाद ही तय हो पाएगा कि टेप में किसी तरह की छेड़छाड़ तो नहीं की गई है.

इसके बाद वाईस रिकार्डिंग के हिसाब से वॉयस सैंपल मांगे जा सकते हैं. हालांकि इसमें सप्ताह भर का समय लग सकता है. जिस हिसाब से मामला आगे बढ़ रहा है उस हिसाब से देखा जाए तो आने वाले दिनों में मामले में न केवल रोचक पक्ष उजागर होंगे बल्कि दाव-प्रतिदाव चलेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *