गोलेगुड़ा मुठभेड़ को बताया फर्जी, फिर मिले नक्सल पर्चे

नेशन अलर्ट, 97706-56789.
जगदलपुर.

भूमकाल दिवस मनाए जाने का ऐलान करते हुए नक्सलियों ने दोरनापाल-जगरगुंडा मार्ग पर पर्चे लगाए हैं. उन्होंने 10 फरवरी को गांव-गांव में भूमकाल दिवस मनाए जाने की अपील ग्रामीणों से की है. इसके अलावा गोलेगुड़ा में हुई पुलिस-नक्सल मुठभेड़ को उन्होंने फर्जी करार दिया है.

भारतीय व्यवस्था से इतर अपनी सामांतर सरकार चलाने वाले माओवादियों ने पर्चे में उल्लेख कर गोलेगुड़ा मुठभेड़ की जांच की मांग की है.

दूसरी ओर दक्षिण बस्तर के इलाकों में माओवादियों ने अपने दम पर ग्रामीण क्षेत्र में विकास कार्य किए जाने की बात लिखी है. उन्होंने विकास कार्यों का ब्यौरा भी दिया है.

नक्सली पर्चे के जारी होने के बाद सुकमा एसपी जितेंद्र शुक्ला ने भी संदेश जारी किया है. इसमें उन्होंने लिखा है कि कि 4 गांवों में जमीन समतल कर देना, छोटा मोटा तालाब बना देना वो भी गांव वालों की मेहनत से ही, वो विकास की रिपोर्ट हो गई. जबकि इसके पीछे इनका उद्देश्य इनका अपना फाइटिंग बेस बना के ही रखना है.

वे आगे लिखते हैं.. मैं तो बोल रहा हूं, विकास कार्यों के लिए मैं आपका स्वागत करता हूं. हथियारों को साइड में रख कर सब मिलकर दो तीन साल सिर्फ गांवों का विकास के लिए ही काम करते हैं. उसमें जो भी गड़बड़ी होगी उसके सकारात्मक विरोध में पुलिस भी उनके साथ रहेगी. बस्तर के लोगों को भी जीने का अधिकार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *