पॉलिटिकल क्राइम अंतागढ़ की जांच करेगी एसआईटी

नेशन अलर्ट, 97706-56789.
रायपुर.

छत्तीसगढ़ की राजनीति व प्रशासन में अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र का नाम एक बार फिर से सुनाई देने लगा है. दरअसल अंतागढ़ टेप कांड के नाम से चर्चित कथित लेन देन के मामले की जांच एसआईटी करेगी. इसके आदेश करते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी ने जांच का जिम्मा रायपुर एसपी नीथू कमल को सौंपा है.

मामला वर्ष 2014 से जुड़ा हुआ है. तब अंतागढ़ के विधायक रहे विक्रम उसेंडी ने लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद विधासभा से इस्तीफा दे दिया था. अंतागढ़ उपचुनाव 12 सितंबर 2014 को होने तय हुए थे.

उस वक्त भाजपा-कांग्रेस के अलावा तेरह उम्मीदवार मैदान में थे. मंतूराम पवार ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में नामवापसी के अंतिम क्षणों में खुद को मैदान से हटा लिया था.

उस वक्त कांग्रेस के पास निर्दलीय प्रत्याशी का सपोट करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा था. भाजपा उम्मीदवार भोजराम नाथ पचास हजार मतों से जीत गए थे.

इंडियन एक्सप्रेस ने उजागर किया था टेप कांड
2015 में इंडियन एक्सप्रेस ने अंतागढ़ उपचुनाव में हुई कथित खरीद फरोक्त का एक टेप उजागर किया था.


  • इस लिंक पर सुनिए अंतागढ़ केस के सारे आडियो

आखिर क्या बात हुई थी अजीत-अमीत जोगी, पुनीत गुप्ता, फिरोज सिद्दिकी के बीच?


दावा किया गया था कि टेप में पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी, उनके सुपुत्र अमित जोगी, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता की आवाजें हैं.

टेप में कथित तौर पर मंतूराम पवार को चुनाव में बैठाने के लिए सात करोड़ के लेनदेन की बातचीत हुई थी.

तब की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस तब से लेकर आज तक अंतागढ़ टेप कांड की जांच की मांग करती रही लेकिन हुआ कुछ नहीं.

अब जबकि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है तब एसआईटी जांच का ऐलान हुआ है. इसके बाद एक बार फिर से प्रदेश की राजनीति में गर्माहट देखी जा रही है.

अमित-फिरोज ने किया स्वागत
अंतागढ़ टेप कांड की एसआईटी जांच का स्वागत आश्चर्यजनक रूप से जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के नेता अमित जोगी के साथ पत्रकार फिराज सिद्दीकी ने भी किया है.

अमित जोगी ने बकायदा एक बयान जारी कर कहा है कि तथाकथित टेप मुझे और मेरे पिता अजित जोगी को बदनाम करने के लिए केवल एक राजनीतिक साजिश थी. अमित के मुताबिक अब जांच सामने आने के बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

इधर फिरोज सिद्दीकी ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. फिरोज के मुताबिक जांच किन बिंदुओं पर होगी उसी आधार पर आगे कुछ कहा जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *