जांच में सामने आया सच, आदिवासियों से हुए छल-कपट पर दर्ज हुई एफआईआर

शेयर करें...

रायगढ़।

काफी विवादों के बाद अब कुनकुनी में हुए जमीन घोटाले के मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। 3 सौ एकड़ की आदिवासियों की जमीन हथियाने के इस मामले में शप्तऋषि इंफ्रास्टेड को आरोपी बनाया गया है।

खरसिया क्षेत्र के बहुर्चित कुनकुनी जमीन मामले आखिरकार जुर्म दर्ज कर कुनकुनी स्थित आदिवासियों की लगभग 300 एकड़ भूमि शप्तऋषि इंफ्रास्टेट द्वारा नियम विरूद्ध खरीदी कराए किए जाने के संबंध में कलेक्टर को शिकायत मिली थी। इस पर जिला दंडाधिकारी द्वारा जांच समिति बनाई गई।

समिति ने पाया कि कुनकुनी के 14 आदिवासियों से उनके 30 खसरों की कृषि भूमि शप्तऋषि इंफ्रास्टेड ने कुल रकबा 6.112 हेक्टेयर (लगभग 300 एकड़) समय-समय पर खरीदी थी। इसमें शप्तऋषि इंफ्रास्टेट कंपनी लिमिटेड एवं उसके पार्टनर संतोष कुमार गौतम, मनीष बनसैया एवं अन्य क्रेताओं ने छल पूर्वक कार्य करते हुए विक्रय पत्रों का निष्पादन कराया।
इसमें धोखाधड़ी कर बेनामी क्रय विक्रय में संलिप्त आरोपियों के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध करने संबंधी आवेदन पत्र पर थाना खरसिया में 2 मई को को अप. क्र. 168/17 धारा 420,467,120 बी भा.द.वि. सहपाठित धारा 3(2),53,54 बेनामी संपत्ति संव्यवहार अधिनियम पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.