पिता के बोल सीएम बेटे को पड़ने लगे भारी, दिल्ली ने मांगी रपट

नंदकुमार बघेल की गांधी परिवार पर टिप्पणी को कांग्रेस ने गंभीरता से लिया

नेशन अलर्ट / 97706 56789

नईदिल्ली/ रायपुर.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के पिता द्वारा गांधी परिवार पर की गई टिप्पणी को कांग्रेस ने गंभीरता से लिया है. खबर है कि कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय इकाई ने मामले में रपट तलब की है.

हालांकि मामले में कोई भी, कुछ भी बोलने तैयार नहीं है लेकिन शीर्ष नेतृत्व को इस प्रकरण को लेकर नाराज बताया गया है.

कुलजमा पिता द्वारा की गई टिप्पणी उस सुपुत्र को भारी पड़ती प्रतीत हो रही है जिसे कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री का दायित्व सौंपा है. आने वाले दिन मुख्यमंत्री के लिए संकट भरे हो सकते हैं.

नंदकुमार ने कहा था – सोनिया इतावली, राजीव पारसी तो राहुल कैसे जनेऊधारी

दरअसल, सारे विवाद की जड़ नंदकुमार बघेल के अंबिकापुर जिले के प्रवास को बताया जाता है. नंदकुमार बघेल ने पिछडा़ वर्ग के एक कार्यक्रम को लेकर गतदिनों यह दौरा किया था.

इसी दौरान उन्होंने विश्राम भवन में पत्रकारों से चर्चा के दौरान गांधी परिवार पर टीका टिप्पणी की थी. इसी टीका टिप्पणी पर कांग्रेस ने आंखें तरेर ली हैं.

वयोवृद्ध नंदकुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी से लेकर उनके पति पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी व पुत्र राहुल पर अनर्गल टिप्पणी की थी. सोनिया को इतावली महिला तक कहा था.

राजीव गांधी को पारसी बताते हुए नंदकुमार ने राहुल के जनेऊधारी ब्राह्मण होने पर भी सवाल उठाए थे. और तो और उन्होंने राहुल की जाति पर भी कटाक्ष किया था.

नंदकुमार बघेल द्वारा कही गईं उक्त बातों पर बनी खबर जैसे ही वायरल होना शुरु हुईं राजधानी रायपुर से लेकर दिल्ली तक कान खडे़ हो गए. चूंकि मामला पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से जुडा़ हुआ था इस कारण दस जनपथ के नजदीकी लोग सक्रिय हुए.

खबर अब यह पता चली है कि पार्टी की राष्ट्रीय इकाई ने अपने स्तर पर जांच कराने का निर्णय कर लिया है. ऐसा पता चला है कि इस पूरे घटनाक्रम की रपट दिल्ली द्वारा तलब की गई है.

गौरतलब तथ्य यह है कि कांग्रेस की प्रादेशिक इकाई से लेकर राज्य सरकार से भी शीर्ष नेतृत्व ने मामले में स्पष्टीकरण मांगने से पहले अपने स्तर पर जांच कराने का मन बनाया है.

संभवतः इसी के मद्देनज़र फिलहाल मामला शांत नज़र आ रहा है. लेकिन आशंका है कि आने वाले दिनों में यह गंभीर असर पैदा करेगा.

बहरहाल, शीर्ष नेतृत्व पर मुख्यमंत्री के पिता द्वारा की गई टिप्पणी पर फिलहाल सामने कोई कुछ बोलने तैयार नहीं है. कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने तो प्रकरण से अनभिज्ञता ही जता दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *