अंतागढ़ टेपकांड : मुकरे तो मरे…

नेशन अलर्ट, 97706-56789.
रायपुर.

अंतागढ़ टेपकांड में जांच कर रही एसआईटी टीम ने अब गवाहों की घेराबंदी भी शुरु कर दी है. पुलिस ने इसके लिए धारा-164 का सहारा लिया है. इसी कड़ी में आज अमीन मेमन को 164 में बयान देने कोर्ट बुलवाया गया था लेकिन समयाभाव के कारण उनका बयान दर्ज नहीं हो पाया.

कानूनी जानकार बताते हैं कि किसी गवाह के बारे में अगर पुलिस को शक होता है कि वह बाद में अपने बयान से मुकर सकता है तो उस गवाह का धारा-164 में मैजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराया जाता है.

धारा-164 में बयान देने वाले का बाद में मुकरना आसान नहीं होता. अदालत को जब यह लगता है कि गवाह शपथ लेकर झूठ बोल रहा है, तो वह उसके खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए अनुशंसा कर सकती है.

सात साल की सजा

बताया जाता है कि असल में होता यह है कि अगर कोई गवाह पुलिस या मैजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान से मुकरे, तो उसे मुकरा हुआ गवाह माना जाता है.

अगर कोई सरकारी गवाह मुकर जाए, तो सरकारी वकील उसके साथ जिरह करता है और सच्चाई निकालने की कोशिश करता है. लेकिन इस प्रक्रिया में अदालत यह देखती है कि कौन से ऐसे गवाह हैं, जिन्होंने जानबूझकर अदालत से सच्चाई छुपाई या फिर झूठ बोला.

ऐसे गवाहों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा-340 के तहत अदालत शिकायत करती है. ऐसे गवाह के खिलाफ अदालत में झूठा बयान देने के मामले में आईपीसी की धारा-193 के तहत मुकदमा चलाया जाता है. इस मामले में दोषी पाए जाने पर अधिकतम 7 साल कैद की सजा का प्रावधान है.

आज होगा कलमबद्ध

अमीन मेमन को आज धारा-164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान देने बुलवाया गया था. मेमन ने नेशन अलर्ट को बताया कि पहले उन्हें कचहरी ले जाया गया. दोपहर तक उन्होंने इंतजार किया.

पहले पुलिस वालों ने बताया कि दोपहर बाद ही बयान हो पाएगा लेकिन अंत में मंगलवार का दिन निर्धारित हुआ है. मेमन कहते हैं कि किसके समक्ष पुलिस उनका बयान दर्ज करवा रही है यह भी उनकी जानकारी में नहीं है.

इसके बाद संभवत: फिरोज सिद्दीकी का धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया जा सकता है. सबसे पहले एसआईटी ने फिरोज से ही पूछताछ की थी. इसके बाद अमीन मेमन व मंतूराम पवार से पूछा जा चुका है.

पूछताछ के बाद फिरोज तत्काल दिल्ली रवाना हो गए थे. अभी भी वह दिल्ली में ही बताए जाते हैं. फिरोज ने नेशन अलर्ट से बातचीत में कहा कि मंगलवार को वह रायपुर में उपस्थित रहेंगे. फिरोज ने लेकिन इस बात से इंकार किया है कि उन्हें किसी भी तरह से दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *