फिर बन रही 2005 की जोडिय़ां

नेशन अलर्ट, रायपुर.
राज्य शासन द्वारा रविवार-सोमवार की मध्यरात्रि के बाद किए गए तबादले से प्रशासनिक अमला हिल गया है. लेकिन, 2005 की जोडिय़ां फिर बनने लगी हैं.
उल्लेखनीय है कि 2005 में आईजी डीएम अवस्थी हुआ करते थे. उस समय रायपुर के एसपी अशोक जुनेजा हुआ करते थे. तब वही आरपी मंडल रायपुर के जिलाधीश हुआ करते थे जो कि आज अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसरों में और ताकतवर हो गए हैं.
क्या मिला मंडल को?
42 आईएएस अफसरों के देर रात किए गए तबादले में पंचायत के साथ ही गृह, जेल व परिवहन आयुक्त का प्रभार देकर और ताकतवर कर दिया गया है. मतलब साफ है कि अवस्थी, जुनेजा व मंडल की तिकड़ी अब भूपेश सरकार में अपना जबरदस्त दखल रखेगी.
इधर, एसके कुजूर को कृषि के साथ साथ उद्योग और वाणिज्य का भी जिम्मा दिया गया है. गौरव द्विवेदी को आईटी के साथ माइंस एंड मिनिरल का भी अतरिक्त प्रभार दिया गया है.
रमन सरकार में ताकतवर अफसर रहे सुबोध सिंह के पर कतरने का प्रयास किया गया है. उनके हाथ से ऊर्जा लेते हुए उन्हें श्रम विभाग थमा दिया गया है. सिद्धार्थ कोमल परदेसी को खेल एवं युवा कल्याण विभाग दिया गया है.
आईएएएस संगीता पी को भी बड़ा विभाग दिए गया है. उन्हें आवास एवं पर्यावरण विभाग की जिम्मेदारी दी गई है. रजत कुमार को समाज कल्याण का संचालक बनाया गया है. जबकि अंकित आनंद ऊर्जा विभाग के विशेष सचिव बनाया गए हैं.
ये बने हैं कलेक्टर
  • संजय अलंग – बिलासपुर कलेक्टर
  • नीलेश क्षीरसागर – जशपुर कलेक्टर
  • टोपेश्वर वर्मा – दंतेवाड़ा कलेक्टर
  • यशवंत कुमार – रायगढ़ कलेक्टर
  • पदुम सिंह एलमा – नारायणपुर कलेक्टर
ये कलेक्टर बदले गए 
  • प्रियंका शुक्ला – जशपुर से संयुक्त सचिव स्वास्थ्य विभाग
  • सौरव कुमार – दंतेवाड़ा से मंत्रालय
  • हिमशिखर गुप्ता – महासमुंद से आयुक्त, उच्च शिक्षा विभाग
  • शम्मी आबिदी – रायगढ़ कलेक्टर से आयुक्त, हाऊसिंग बोर्ड
  • पी. दयानंद – बिलासपुर से प्रबंध संचालक समग्र शिक्षा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *