कांकेर कांड : सरकार के खिलाफ आज शांति मार्च

नेशन अलर्ट / 97706 56789

रायपुर.

कांकेर में पत्रकारो के साथ हुई मारपीट की घटना को लेकर पूरे छत्तीसगढ़ में आक्रोश व्याप्त है. रायपुर प्रेस क्लब के सदस्यों द्वारा पत्रकारों के साथ हुई मारपीट की घटना को लेकर रायपुर प्रेस क्लब में गुरूवार को एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई.

बैठक में 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर होने वाले आंदोलन और मुख्यमंत्री निवास घेराव को लेकर उपस्थित सदस्यों ने सहमति जताई. रायपुर प्रेस क्लब के सदस्यों ने प्रदर्शन और घेराव को अपना समर्थन दिया है.

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया. सरकार के समक्ष निम्नलिखित मांगें रखे जाने का प्रस्ताव पारित किया गया :

  1. पत्रकारों के साथ मारपीट के दौरान मूक दर्शक बने रहने वाले और अपराधियों को प्राश्रय देने वाले कांकेर थाना प्रभारी को तत्काल बर्खास्त किया जाए.
  2. लॉ-एंड आर्डर न संभाल पाने वाले जिले के कलेक्टर और एसपी के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाए.
  3. मारपीट, गुंडागर्दी और हत्या की साजिश में शामिल आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया जाए. उनके जिला बदर की कार्रवाई की जाए.

बैठक में सभी सदस्यों से काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की गई. बैठक की अध्यक्षता महासचिव प्रशांत दुबे ने की.

बैठक में उपाध्यक्ष प्रफुल्ल ठाकुर, पूर्व महासचिव एवं एडहॉक कमेटी के समन्वयक सुकांत राजपूत, पूर्व कोषाध्यक्ष मोहन तिवारी, वरिष्ठ पत्रकार आशीष तिवारी, वैभव पांडेय, धीरेंद्र गिरी गोस्वामी, मो. शमीम, रेणु नंदी, प्रदीप चंद्रवंशी, अमित बाघ, सुधीर तंबोली, पवन ठाकुर समेत बड़ी संख्या में पत्रकार साथी उपस्थित रहे.

छत्तीसगढ़ प्रेस क्लब ने भी दिया समर्थन

प्रदेश में पत्रकारों पर लगातार हो रहें अत्याचार के खिलाफ किए जा रहे आंदोलन को छत्तीसगढ़ प्रेस क्लब ने अपना पूर्ण समर्थन दिया है. छत्तीसगढ़ प्रेस क्लब के अध्यक्ष संदीप तिवारी राज और महासचिव आशीष मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में लगातार पत्रकारों का शोषण हो रहा है.

उनके अनुसार राज्य सरकार द्वारा पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर कोई भी प्रयास नहीं किया जा रहा है जो कि काफी निंदनीय है. हाल ही में कांकेर के पत्रकार कमल शुक्ला के साथ हुई मारपीट के मामले में बस्तर के पत्रकारों के द्वारा किए जा रहे आंदोलन को छत्तीसगढ़ प्रेस क्लब ने अपना पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि हमारा आंदोलन जब तक हमें न्याय नही मिल जाता है तब तक जारी रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *