क्या हटाए जाएंगे जीपीएम कलेक्टर ?

नेशन अलर्ट / 97706 56789
रायपुर.

गौरेला – पेंड्रा – मरवाही ( जीपीएम ) के जिलाधीश ( कलेक्टर ) का नाम आज राजधानी में हुई बैठक में छाया रहा. दरअसल, उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग की सर्वदलीय बैठक में कलेक्टर को लेकर जमकर हंगामा हुआ. और तो और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ – जे ने मरवाही कलेक्टर को हटाने की मांग भी लगे हाथ कर डाली.

जनता कांग्रेस की ओर से ऐसी मांग करते ही बैठक में उपस्थित कांग्रेस के प्रतिनिधियों से विवाद हो गया. अमित जोगी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस जिला अध्यक्ष के रूप में कलेक्टर काम कर रहे हैं. इस पर कांग्रेस ने कलेक्टर के कामकाज को अच्छा बताया है.

सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस, बीजेपी,एनसीपी और जेसीसीजे के प्रतिनिधि शामिल हुए. मरवाही सीट पर 3 नवंबर को मतदान होगा. 10 नवंबर को मतों की गणना की जाएगी. चुनाव आयोग द्वारा जारी शेड्यूल के मुताबिक, 9 अक्टूबर को गजट नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा. 16 अक्टूबर नामांकन की आखिरी तारीख होगी. 19 अक्टूबर तक नामांकन वापसी की प्रकिया की जाएगी.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के रायपुर स्थित दफ्तर में बैठक हुई. बैठक का मकसद सभी दलों को निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी देना था. बीच बैठक में गुस्से में आकर अमित जोगी ने तेज आवाज में कहा, कि गौरेला, पेंड्रा, मरवाही के कलेक्टर डोमन सिंह कांग्रेस के एजेंट बनकर काम कर रहे हैं. वो कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की तरह व्यवहार कर रहे हैं. उन्हें वहां से हटा देना चाहिए.

भाजपा ने भी इस मामले में आपत्ति दर्ज करवाई. कांग्रेस की तरफ से इस मामले में कहा गया कि जांच के बाद फैसला लिया जाए.

बैठक के बाद बाहर आकर जनता कांग्रेस प्रमुख अमित जोगी ने कहा कि वहां 90 हजार साड़ियां पकड़ी गईं. वो भी राजनीतिक दल के लोगों के ठिकानों से, मगर रिपोर्ट अज्ञात लोगों के नाम पर दर्ज हुई. कलेक्टर खुद मंत्री के साथ लोकार्पण कार्यक्रम में जा रहे हैं. उन्होंने कहा, कि किसी दूसरे आईएएस अधिकारी को लाया जाए.

इसके साथ ही अमित जोगी ने मरवाही उपचुनाव के दौरान वहां के लिए केंद्रीय बल ( सेंट्रल फोर्स ) की तैनाती की आवश्यकता जताई है. अमित जोगी ने इसका कारण बताते हुए कहा कि इन दिनों मरवाही क्षेत्र में पुलिस भी कांग्रेस के पक्ष में काम कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *