मोदी का यशोगान करने जनता ने नहीं चुने भाजपा सांसद

नेशन अलर्ट / 97706 56789

रायपुर.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को लिखे पत्र का विरोध करे रहे भाजपा पर कांग्रेस ने तंज कसा है. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पैसा भारत सरकार से मांगा गया है भाजपा के कालाधन कोष से नहीं.

ठाकुर के अनुसार यह कोई पहला अवसर नहीं है जब भाजपा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा केंद्रीय सरकार को लिखे गए पत्रों का विरोध किया हो. इसके पहले भी भाजपा इस प्रकार के छत्तीसगढ़ विरोधी कृत्य कर चुकी है.

ठाकुर ने इसके उदाहरण बताते हुए कहा कि चाहे वह किसानों के धान खरीदी के नियम को शिथिल करने का मामला हो, प्रवासी मजदूरों के घर वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने लिखी गई चिट्ठी हो, राज्य में बंद पडी़ आर्थिक गतिविधियों को सुचारू रूप से शुरू करने के लिए 30 हजार करोड़ की राहत पैकेज देने की मांग हो के समय भी भाजपा की ओर से विरोध हुआ था.

इसी तरह छत्तीसगढ़ी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने लिखा गया पत्र हो, छत्तीसगढ़ के बकाया जीएसटी एवं जीएसटी की क्षतिपूर्ति राशि देने लिखा गया पत्र हो, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से बकाया 736 करोड़ राशि देने की मांग का पत्र क्यूं न हो हमेशा की तरह भाजपा का रवैया छत्तीसगढ़ विरोधी ही रहा है.

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा के 9 सांसद को मोदी का यशोगान करने के लिए नहीं चुना है बल्कि छत्तीसगढ़ के हक अधिकार की बात रखने चुना है.

भेदभाव का विरोध करें भाजपाई

ठाकुर के मुताबिक मोदी सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ के साथ किए जा रहे भेदभाव का भाजपा सांसदों को विरोध करना चाहिए. छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता के हित अधिकार की मांग की जाती है तब भी भाजपा के सांसद मौन रहते हैं.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता भाजपा के 9 सांसदों को चुनकर खुद को ठगा सा महसूस कर रही है. 15 साल सत्ता में रहने के दौरान भी भाजपा का रवैया छत्तीसगढ़ के किसान, मजदूर, महिलाएं, छात्रों, बेरोजगार युवाओं के प्रति दुर्भावनापूर्ण रहा है.आज विपक्ष में है तब भी भाजपा उसी दुर्भावना से ग्रसित है.

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ निरंतर षड्यंत्र-दुष्प्रचार करने में जुटी हुई है. केंद्र सरकार से राज्य सरकार जब छत्तीसगढ़ का हक मांगती है तो भाजपा नेताओं को पेट में दर्द शुरू हो जाता है?

बकौल ठाकुर “भाजपा बताये क्या छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता के प्रति मोदी सरकार की कोई जिम्मेदारी नहीं है? छत्तीसगढ़ की जनता का भारत सरकार के खजाने पर कोई हक नहीं है?क्या मोदी सरकार छत्तीसगढ़ की जनता से विभिन्न प्रकार के टैक्स लेने के तक जिम्मेदार है? जनता के प्रति मोदी सरकार की कोई उत्तरदायित्व नहीं है?”

उन्होंने पूछा कि जब मोदी सरकार छत्तीसगढ़ की वन संपदा, खनिज संपदा, कोयला, आयरन, बॉक्साइट सहित अनेक प्रकार के खनिज एवं वन संपदा का दोहन कर रॉयल्टी वसूलती है ऐसे में छत्तीसगढ़ की जनता के लिए मदद मांगी जाती है तो भाजपा को तकलीफ क्यों होती है? भाजपा के सांसद मोदी के सामने छत्तीसगढ़ की हक अधिकार की बात क्यों नही रखते हैं?

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा 15 साल तक छत्तीसगढ़ में सरकार में रहने के बाद छत्तीसगढ़ की जन भावनाओं को, जनता से किए वादों को पूरा करने में असफल रही है. बीते 6 साल से मोदी सरकार भी जनता से किए वादों को पूरा करने में असफल हो चुकी है.

ठाकुर कहते हैं किमोदी सरकार की गलत नीतियों, मनमानी के चलते देश तबाही की ओर आगे बढ़ रहा है. बेरोजगारी के मामले में भारत 45 साल पुरानी स्थिति में है. जीडीपी में हुई गिरावट के कारण 40 साल पुरानी स्थिति निर्मित हो गई है. सरकारी कंपनियों को बेचा जा रहा है.

उनके अनूसार मोदी सरकार की लापरवाही के चलते पूरे देश मे महामारी फैल चुकी है. भारत कोरोना पीड़ितों की बढ़ती संख्या में विश्व में दूसरे नंबर पर है. केंद्र सरकार महामारी को रोकने के लिए गंभीर नहीं है. मोदी सरकार की विफलताओं को छुपाने के लिए छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता झूठ, दुष्प्रचार करने में जुटे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *